[Best 100+] Mahakal Bhakt Shayari in Hindi (2022) | महाकाल भक्त शायरी

आज के इस पोस्ट में हम बात करेंगे Mahakal Bhakt Shayari के बारे में, आज हर कोई महाकाल का भक्त है और वो अपने सोशल मीडिया में महाकाल भक्त शायरी लगता है |

Mahakal Bhakt Shayari


नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे साइट HindiWaleShayari में। आज के इस पोस्ट में हम बात करेंगे Mahakal Bhakt Shayari के बारे में, आज कल हर कोई महाकाल का भक्त है और वो अपने सोशल मीडिया में महाकाल भक्त शायरी लगाने के लिए शायरी और कोट्स ढूंढ़ता ही है इसलिए हमने आपके लिए महाकाल भक्त शायरी लिखा है जो आपको बहुत पसंद आएंगे।

दोस्तों ऐसा कई बार होता है की जब भी हम अपने बाबा महाकाल के लिए शायरी ढूंढ़ते है तो हमें अच्छे शायरी नहीं मिल पते जिस कारण हम अपने महाकाल भक्त शायरी अपने सोशल मीडिया पर नहीं लगा पते है। इसलिए हमने आप जैसे महाकाल भक्तो के लिए आज का ये पोस्ट लिखा है। साथ ही दोस्तों उम्मीद भी करेंगे की आपको ये Mahadev Status बहुत पसंद आएंगे।

Mahakal Bhakt Shayari

Mahakal Bhakt Shayari


मुझे सुकून मिलता है महाकाल हो याद करके,
और मेरे सरे कष्ट मिट जाते है महाकाल का नाम लेने से !!!

Mujhe Sukun Milta Hai Mahakal Ko Yaad Karke,
Aur Mere Sare Kasth Mit Jate Hai Mahakal Ka Naam Lene Se !!!


मेरे ऊपर है महाकाल की साया,
बाकि पूरी दुनिया ही है मोह माया !!!

Mere Uper Hai Mahakal Ki Saya,
Baki Puri Duniya Hi Hai Moh Maya !!!


महाकाल से नाता मैं कुछ इस कदर रखता हूँ,
की दिन हो या रात बस उन्ही के नाम जाप्ता हूँ !!!

Mahakal Se Nata Mai Kuch Is Kadar Rakhta Hu,
Ki Din Ho Ya Raat Bas Unhi Ke Naam Japta Hu !!!


मैं महाकाल की भक्ति में कुछ इस कदर लीन हो जाऊ,
की खुद को इस पूरी दुनिया से अलग उनके शरण मैं पाऊँ !!!

Mai Mahakal Ki Bhakti Me Kuch Is Kadar Lin Ho Jau,
Ki Khud Ko Is Puri Duniya Se Alag Unke Sharam Me Pau !!!

Mahakal Bhakt Shayari


पूरी दुनिया में छाया है मौत का मंज़र,
लगता है महाकाल आये है अपने भक्तों के अंदर !!!

Puri Duniya Me Chaya Hai Mout Ka Manzar,
Lagta Hai Mahakal Aaye Hai Apne Bhakto Ke Andar !!! Mahakal Bhakt Shayari


हमें कोई तोड़ सके हम इतने कच्चे नहीं है,
हम महाकाल के भक्त है, हम तो दिल के भी अच्छे नहीं है !!!

Hame Koi Tod Sake Ham Itne Kacche Nahi Hai,
Ham Mahakal Ke Bhakt Hai, Ham To Dil Ke Bhi Aache Nahi Hai !!!


वो मुझे भटका रही थी अपने माया जाल से,
पर मैं नहीं भटका क्योकि मेरे साथ मेरे महाकाल थे !!!

Wo Mujhe Bhatka Rahi Thi Apne Maya Jaal Me,
Par Mai Nahi Bhataka Kyoki Mere Saath Mere Mahakal The !!!


महाकाल को दिल में बसा के बदलेंगे खुद की तकदीर,
उनके दरसन होते ही ख़त्म हो जाएगी हमारी तकलीफ !!!

Mahakal Ko Dil Me Basa Ke Badlenge Khud Ki Taqdeer,
Unke Darsan Hote Hi Khatm Ho Jayegi Hamari Takleef !!!

Mahakal Bhakt Shayari


आ रही है महाशिवरात्रि फिर से महाकाल का गाना गाना है,
घूम कर ये पूरी दुनिया मुझे महाकाल के दरबार जाना है !!!

Aa Rahi Hai Mahakshivarati Phir Se Mahakal Ka Gana Gana Hai,
Ghum Kar Ye Duniya Mujhe Mahakal Ke Darbar Jana Hai !!!


तीनो लोक के स्वामी तुम हो,
कालो के काल महाकाल तुम हो,
मेरी ये भक्ति स्वीकार करो और,
मुझे अपने संग ले चलो !!!

Teeno Lok Ke Swami Tum Ho,
Kaalo Ke Kaal Mahakal Tum Ho,
Meri Ye Bhakti Swikar Karo Aur,
Mujhe Apne Sang Le Chalo !!!

Mahakal Bhakt Shayari Attitude

Mahakal Bhakt Shayari


महाकाल की भक्ति में ही सारा दिन लीन रहता हूँ,
इसलिए मैं इन प्यार और मोहब्बत से दूर रहता हूँ !!!

Mahakal Ki Bhakti Me Sara Din Lin Rehta Hu,
Isliye Mai In Pyar Aur Mohabbat Se Dur Rehta Hun !!!


महाकाल की भक्ति से ये चल रहा संसार है,
उनका यही तो दुनिया में सबसे बड़ा उपकार है !!!

Mahakal Ki Bhakti Se Ye Chal Raha Sansar Hai,
Unka Yahi To Duniya Me Sabse Bada Upkar Hai !!!


औकात की बात मत करना हम महाकाल के दीवाने है,
उनके ये नाम से ही तेरी पूरी ज़िन्दगी बर्बाद हो सकती है !!! Mahakal Bhakt Shayari

Aukat Ki Baat Mat Karna Ham Mahakal Ke Diwane Hai,
Unke Ye Naam Se Hi Teri Puri Zindagi Barbad Ho Sakti Hai !!!


कट्टा तो हम सिर्फ सौक से रखते है,
खौफ के लिए तो महाकाल का नाम ही काफी है !!!

Katta To Ham Sirf Sokh Se Rakhte Hai,
Khouf Ke Liye To Mahakal Ka Naam Hi Kafi Hai !!!


इस पूरी धरती में फैली है महाकाल की माया,
इसलिए मैंने महाकाल को अपना गुरु है बनाया !!!

Is Puri Dharti Me Faili Hai Mahakal Ki Maya,
Isliye Maine Mahakal Ko Apna Guru Hai Banaya !!!

Mahakal Bhakt Shayari


महाकाल की भक्ति में थोड़ी मिलावट है,
जो भी आता है थोड़ा मेहकता और थोड़ा बेहकता भी है !!!

Mahakal Ki Bhakti Me Thodi Milawat Hai,
Jo Bhi Aata Hai Thoda Mehakta Aur Thoda Behakta Bhi Hai !!!


जो विश को भी अमृत की तरह पि जाते है,
ऐसे महाकाल के भक्त है हम !!!

Jo Wis Ko Bhi Amrit Ki Tarah Pi Jate Hai,
Aise Mahakal Ke Bhakt Hai Ham !!!


उनके एक हाथ में है त्रिशूल और,
दूसरे हाथ में है रुद्राख की माला,
वो भोलेनाथ है पुरे संसार के रखवाला !!!

Unke Ek Haath Me Hai Trishul Aur,
Dusre Haath Me Hai Rudrakh Ki Mala,
Wo Bholenath Hai Pure Sansar Ke Rakhwala !!!


खुब्शुर्तियों को चाहने वाला दुनिया में बिखर जाता है,
पर महाकाल को चाहने वाला पूरी दुनिया में निखार जाता है !!!

Khubshurti Ko Chahane Wala Duniya Me Bikhar Jata Hai,
Par Mahakal Ko Chahane Wala Puri Duniya Me Nikhar Jata Hai !!!


महाकाल की भक्ति में भांग पीकर लीन रहता हूँ,
उनका नाम जपते जपते ही  दुनिया में गुम रहता हूँ !!!

Mahakal Ki Bhakti Me Bhang Peekar Leen Rehta Hu,
Unka Naam Japte Japte Hi Duniya Me Gum Rehta Hu !!! Mahakal Bhakt Shayari

Mahakal Bhakt Shayari


प्यार और मोहब्बत से बिलकुल दूर रहता हूँ,
इसलिए मैं गांजे के नशे मैं दिन भर चूर रहता हूँ !!!

Pyar Aur Mohabbat Se Bilkul Dur Rehta Hu,
Isliye Me Gange Ke Nashe Me Din Bhar Chur Rehta Hu !!!


जो पूरी दुनिया को चाहता है वो बिखर जाता है,
लेकिन जो  महाकाल को चाहता है वो निखार जाता है !!!

Jo Puri Duniya Ko Chahata Hai Wo Bikhar Jata Hai,
Lekin Jo Mahakal Ko Chahata Hai Wo Nikhar Jata Hai !!!


जब तुम्हे सुकून ना मिले इस दिखावे की कस्ती में,
तो आ जाना तुम मेरे महाकाल की बस्ती में !!!

Jab Tumhe Sukun Naa Mile Is Dikhawe Ki Kasti Me,
To Aa Jana Tum Mere Mahakal Ki Basti Me !!!


मैं आमिर बनकर भी क्या करूँगा,
मेरे महाकाल तो फकीरों के दीवाने है !!!

Mai Amir Bankar Bhi Kya Karunga,
Mere Mahakaal To Fakiro Ke Diwane Hai !!!


मन भर गया है मेरा इस दुनिया से,
अब मुझे मेरे महाकाल के घर जाना है !!!

Man Bhar Gaya Hai Mera Is Duniya Se,
Ab Mujhe Mere Mahakal Ke Ghar Jana Hai !!!

Mahakal Bhakt Shayari In Hindi

Mahakal Bhakt Shayari


देश पर नहीं दिलो पर राज करना है,
नशे में रहकर भी मुझे महाकाल की भक्ति करना है !!!

Desh Par Nahi Dilo Par Raaj Karna Hai,
Nashe Me Rehkar Bhi Mujhe Mahakal Ki Bhakti Karna Hai !!!


माना आज का दिन ख़राब है,
पूरी दुनिया मेरे खिलाफ है पर महाकाल नहीं !!!

Mana Aaj Ka Din Kharab Hai,
Puri Duniya Mere Khilaf Hai Par Mahakal Nahi !!!


दुनिया देखेगी ताकत एक महाकाल के भक्त का,
बस हाथ रहे मुझपे मेरे महाकाल का !!!

Duniya Dekhegi Takat Ek Mahakal Ke Bhakt Ka,
Bas Haath Rahe Mujhpe Mere Mahakal Ka !!!


समय तो बीतता ही रहेगा सालो साल,
पर मैं आपका भक्त बना रहूँगा मेरे महाकाल !!!

Samay To Bitti Hi Rahegi Salo Saal,
Par Mai Aapka Bhakt Bana Rahunga Mere Mahakal !!!

Mahakal Bhakt Shayari


कैसे बोलू की महाकाल की हर दुआ बेअशर हो गयी,
मैं जब भी अकेला हुआ मेरे महाकाल को मेरी खबर हो गयी !!!

Kaise Bolu Ki Mahakal Ki Har Dua Beashar Ho Gai,
Mai Jab Bhi Akele Hua Mere Mahakal Ko Meri Khabar Ho Gayi !!!


जब महाकाल ने पिया वो विश जहरीला,
तब जाकर हुआ है ये आसमान नीला !!!

Jab Mahakal Ne Piya Wo Wis Jehrilla,
Tab Jakar Hua Hai Ye Aasman Nila !!!


वो पल मेरी ज़िन्दगी का बड़ा अनमोल होता है,
जब आस पास शिवरात्रि का माहौल होता है !!!

Wo Pal Meri Zindagi Ka Bada Anmol Hota Hai,
Jab Aas Paas Shivratri Ka Mahol Hota Hai !!!

Mahakal Bhakt Shayari


जब मैं हुआ अकेला तब किसी ने नहीं दिया मेरा साथ,
वो सिर्फ महाकाल ही थे जिन्होंने थमा था मेरा हाथ !!! Mahakal Bhakt Shayari

Jab Mai Hua Akela Tab Kisi Ne Nahi Diya Mera Saath,
Wo Sirf Mahakal Hi The Jinhone Thama Tha Mera Haath !!!


उनकी भक्ति का सफर बड़ा सुहाना है,
इसलिए मेरा दिल सिर्फ महाकाल का दीवाना है !!!

Unki Bhakti Ka Safar Bada Suhana Hai,
Isliye Mera Dil Sirf Mahakal Ka Diwana Hai !!!


महाकाल की भक्ति में किया हुआ काम,
और जाप करते समय महाकाल का नाम,
तुम्हे दुनिया की हर खुशियां दिला सकती है !!!

Mahakal Ki Bhakti Me Kiya Hua Kaam,
Aur Jaap Karte Samay Mahakal Ka Naam,
Tumhe Duniya Ki Har Khushiyan Dila Sakti Hai !!!

Mahakal Bhakt Shayari Image Hd

Mahakal Bhakt Shayari


आकाल मृतयु तो वो मरते है,
जो काम करते है चांडाल का,
और काल भी उनका कुछ नहीं बिगड़ सकते है,
जो भक्त होते है महाकाल का !!!

Aakal Mritiyu To Wo Marte Hai,
Jo Kaam Karte Hai Chandal Ka,
Aur Kaal Bhi Unka Kuch Nahi Bigad Sakte Hai,
Jo Bhakt Hote Hai Mahakal Ka !!!


फर्क सिर्फ इतना है तुम्हारे और हमारे संसार में,
तुम्हारे संसार में माया जाल है और,
हमारे संसार में महाकाल है !!! Mahakal Bhakt Shayari

Fark Sirf Itna Hai Tumhare Aur Hamare Sansar Me,
Tumhare Sansar Me Maya Jaal Hai Aur,
Hamare Sansar Me Mahakal Hai !!!


मेरे हालात भी मुश्किल में पड़े थे,
पर मैं उठ पाया क्योकि मेरे साथ महाकाल खड़े थे !!!

Mere Halat Bhi Muskil Me Pade The,
Par Mai Uth Paya Kyoki Mere Saath Mahakal Khade The !!!


मैं वो महाकाल का भक्त हूँ जो सिर्फ अपने महाकाल के आगे ही झुकता है,
वर्ण किसी इंसान में इतनी हिम्मत नहीं की वो मुझे अपने आगे झुका सके !!!

Mai Wo Mahakal Ka Bhakt Hun Jo Sirf Apne Mahakal Ke Aage Hi Jhukta Hai,
Warna Kisi Insan Me Itni Himmat Nahi Ki Wo Mujhe Apne Aage Jhuka Sake !!!


काल का भी वार उसपर असर नहीं करता,
क्योकि वो भक्त है उस महाकाल का !!!

Kaal Ka Bhi Waar Uspar Asar Nahi Karta,
Kyoki Wo Bhakt Hai Us Mahakal Ka !!!

Mahakal Bhakt Shayari


हम वो इंसान है जो अपने महाकाल के आगे,
अपनी पूरी ज़िन्दगी कुर्बान करने को तैयार है !!!

Ham Wo Insan Hai Jo Apne Mahadal Ke Aage,
Apni Puri Zindagi Kurban Karne Ko Taiyar Hai !!!


अगर महाकाल का हाथ रहा तो अपना भी एक मुकाम होगा,
एक करोडो की गाड़ी होगी और उसपे महाकाल का नाम होगा !!!

Agar Mahakal Ka Haath Raha To Apna Bhi Ek Mukam Hoga,
Ek Crore Ki Gadi Hogi Aur Uspe Mahakal Ka Naam Hoga !!!


पूरा विश्व झुकता है जिसके शरण में,
उस महाकाल का भक्त हूँ में !!!

Pura Wishw Jhukta Hai Uske Sharan Me,
Us Mahakal Ka Bhakt Hu Mai !!!


मुझे महाकाल ने खुद पर भौंरासा करना सिखाया है,
लोगो पर भरोसा करोगे तो वो अपनी औकात दिखा देंगे !!!

Tujhe Mahakal Ne Dhud Par Bharosha Karna Sikhaya Hai,
Logon Par Bharosa Karega To Wo Apni Aukat Dikha Denge !!!


जब भी मैं महाकाल के दरबार में आता हूँ,
खली हाथ वापस नहीं जाता हूँ,
इसलिए मैं भोलेनाथ की भक्ति में ही खो जाना चाहता हूँ !!! Mahakal Bhakt Shayari

Jab Bhi Mai Mahakal Ke Darbar Me Aata Hu,
Khali Haath Wapas Nahi Jata Hu,
Isliye Mai Bholenath Ki Bhakti Me Hi Kho Jana Chahata Hu !!!

Mahakal Bhakt Shayari


हमारी खुब्शुर्ति पर मत जाओ हम महाकाल के भक्त है,
हमें खूंखार दिखना ही पसंद है !!!

Hamari Khubshurti Par Mat Jao Ham Mahakal Ke Bhakt Hai,
Hame Khunkhar Dikhna Hi Pasand Hai !!!


ख़त्म कर दिया मैंने अब पूरी दुनिया से वास्ता,
अब सिर्फ महाकाल ही मेरी मंज़िल और,
महाकाल ही मेरा रास्ता !!!

Khatm Kar Diya Maine Ab Puri Duniya Se Wasta,
Aab Sirf Mahakal Ki Meri Manzir Aur,
Mahakal Hi Mera Rasta !!!


हमें राजनीती में उतरने की कोई जरुरत नहीं है,
हम तो महाकाल के नाम पर ही पूरी सरकार चला सकते है !!!

Hame Rajniti Me Uterne Ki Koi Jarurat Nahi Hai,
Hame To Mahakal Ke Naam Par Hi Puri Sarkar Chala Sakte Hai !!!


लोगो को हमारा नाम बताने की जरुरत नहीं है,
उन्हें बस कह दो की एक महाकाल का भक्त आया हुआ है !!!

Logon Ko Hamara Naam Batane Ki Jarurat Nahi Hai,
Unhe Bas Keh Do Ki Ek Mahakal Ka Bhakt Aaya Hua Hai !!!


मैंने अपनी ज़िन्दगी अधूरा ही पाया,
मगर फिर भी मुझे महाकाल ने अपनाया !!!

Maine Apni Zindagi Adhura Hi Paya,
Magar Phir Bhi Mujhe Mahakal Ne Apnaya !!!

New Mahakal Bhakt Shayari Whatsapp

Mahakal Bhakt Shayari


महाकाल को पाने की आस है,
और उनको ही खोने का डर है,
बस यही मेरी ज़िन्दगी का सफर है !!!

Mahakal Ko Pane Ki Aas Hai,
Aur Unko Hi Khone Ka Dar Hai,
Bas Yahi Meri Zindagi Ka Safar Hai !!!


वो ना तो गिनकर देते है और,
ना ही कभी तोल कर देते है,
महाकाल जब भी देते है,
पूरा दिल खोल कर देते है !!!

Wo Naa To Ginkar Dete Hai Aur,
Naa Hi Kabhi Tol Kar Dete Hai,
Mahakal Jab Bhi Dete Hai,
Pura Dil Khol Kar Dete Hai !!!


जब कभी भी मैं अपने बुरे हालातों से घबराया,
मेरे महाकाल का आवाज़ आया, 
रुको भक्त मैं अभी आया !!!

Jab Kabhi Bhi Mai Apne Bure Halat Se Ghabraya,
Mere Mahakal Ka Aawaz Aaya,
Ruko Bhakt Mai Abhi Aaya !!!

Mahakal Bhakt Shayari


शिद्दत से करो उनकी पूजा तो बदल देते है वो हाथों की लकीर भी,
मैंने देखा है तेरे दरबार में बादशाहों को बनते,
पहले थे वो भी फ़क़ीर ही !!!

Shidat Se Karo Unki Puja To Badal Dete Hai Wo Haton Ki Lakir Bhi,
Maine Dekha Hai Tere Darbar Me Badshaho Ko Bante, 
Pehle The Wo Bhi Fakir Hi !!!


वो बदल सकते है समय की चल,
वो हमेशा बनते है अपने भक्तों की ढल,
वो है हमारे प्यारे महाकाल !!!

Wo Badal Sakte Hai Samay Ki Chal.
Wo Hamesha Bante Hai Apne Bhakto Ki Dhal,
Wo Hai Hamare Pyare Mahakal !!!


मौत से हम नहीं डरते हमने पूरी ज़िन्दगी मस्ती की है,
महाकाल का नाम लेकर पूरी ज़िन्दगी उनकी भक्ति की है !!!

Mout Se Ham Nahi Derte Hame Puri Zindagi Masti Ki Hai,
Mahakal Ka Naam Lekar Puri Zindagi Unki Bhakti Ki Hai !!!


महाकाल की माया तो केवल वही जाने,
हम तो सिर्फ है उनकी भक्ति के दीवाने !!!

Mahakal Ki Maya To Kewal Wahi Jane,
Ham To Sirf Hai Unki Bhakti Ke Diwane !!!

Mahakal Bhakt Shayari


जो उलझा हो महाकाल की जटाओ में,
उसे ये ज़माना क्या उलझा पायेगा !!! Mahakal Bhakt Shayari

Jo Uljha Ho Mahakal Ki Jatao Me,
Use Ye Jamana Kya Uljha Payega !!!


सबसे बड़ा महाकाल का दरबार है !!!
वही पुरे श्रिस्ति के पालनहार है,
हमें माफ़ कीजिये या सजा दीजिये,
हमारी तो आप ही एक लोती सरकार है !!!

Sabse Bada Mahakal Ka Barbar Hai,
Wahi Pure Wishw Ke Palanhar Hai,
Hame Maaf Kijiye Ya Saja Dijiye,
Hamara To Aap Hi Ek Loti Sarkar Hai !!!


लोगो ने पूछा तुमने ऐसा क्या देखा महाकाल की भक्ति में,
हमने जबाब दिया पूरी दुनिया महाकाल के नाम से चलती है !!!

Logo Ne Pucha Tumne Aisa Kya Dekha Mahakal Ki Bhakti Me,
Hamne Jabab Diya Puri Duniya Mahakal Ke Naam Se Chalti Hai !!!

अंतिम शब्द

दोस्तों उम्मीद करते है आपको आज का ये Mahakal Bhakt Shayari बहुत पसंद आया होगा।अपनी मन पसंद महाकाल भक्त शायरी को हमें कमेंट करके ज़रूर बताये।  साथ ही अपने दोस्तों के साथ और अपने Social Media जैसे की FacebookWhatsappInstagramTwitter पर भी ज़रूर शेयर करे।

Thank you !!!

Post a Comment

© Hindi Wale Shayari. All rights reserved. DMCA.com Protection Status